सरकार से मदद न मिलने पर किसानों ने खुद बनाई रोड

विदिशा,30 मई। जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर खेजड़ा पडऱात गांव के किसानों ने अपने खेत तक पहुंचते वाले रास्ते और आगे नौलास गांव के जोडऩे वाले रास्ते पर खुद आपस में चंदा करके रोड बनाने का बीड़ा उठाया है। 50 फीसदी काम पूरा हो चुका है। सरकार और प्रशासन से सड़क बनाने की मांग लंबी समय से की जा रही है। आखिर खुद ही मेहनत करके रोड बनाने में जुट गए। कलेक्टर ने इस कार्य पर बधाई देने के साथ प्रशासन की ओर से हरसंभव मदद का भरोसा जताया है। कुछ दशकों पहले एक फिल्म आई थी। जिसमें गांव तक पहुंचने वाले मार्ग का निर्माण फिल्म के हीरो दिलीप कुमार करते हैं। नया दौर नाम की इस फिल्म में अपने रोजगार को बचाने के लिए शुरूआत में जहां दिलीप कुमार अकेले काम में जुटते है। धीरे-धीरे पूरा गांव उनके साथ आ जाता है। कुछ इसी प्रकार की कहानी जिला मुख्यालय से 30 किमी दूर बसे खेजड़ा पडऱात में देखने को मिली है।
दरअसल गांव खेजड़ा पडऱात से लेकर नौलास तक जाने के लिए एक लंबा रास्ता मौजूद है, लेकिन यदि खेजड़ा पडऱात से ग्राम महुआखेड़ा होते हुए नौलास तक की सड़क दुरूस्त हो जाए तो कम से कम 10 से 12 किमी का रास्ता छोटा हो जाएगा। वहीं दूसरी ओर इसी सड़क पर खेजड़ा पडऱात के करीब 30 किसानों के खेत पड़ते हैं। यहां रहने वाले मोकमसिंह बताते हैं कि बारिश के दिनों में गांव से निकलकर खेत पहुंचने में बहुत मुश्किल होती है। पैदल निकलना भी दिक्कतभरा हो जाता है। कभी-कभी सुबह खेत के लिए निकलने पर शाम तक ही खेत पर पहुंच पाते हैं। रविसिंह लोधी का कहना है कि इसके पहले भी हमने सीएम शिवराजसिंह चौहान, विधायक और जिला कलेक्टर को भी इस रोड के निर्माण के आवेदन दिए हैं पर कोई हल नहीं निकला। बारिश से पहले हम इस सड़क को इस लायक बनाना चाहते हैं कि हम अपने खेतों तक आसानी से पहुंंच सके।