प्रदेश में रोपे जाएंगे आठ करोड़ पौधे

भोपाल, 5 जनवरी। सरकार के मुखिया ने दो जुलाई को प्रदेश में 8 करोड़ पौधे रोपकर करेगी। 2 जुलाई को मप्र में 8 करोड़ पौधा रोपण करने के लिए सरकार ने वन विभाग को 12 करोड़ पौधा तैयार करने के निर्देश दिए है।
2 जनवरी 18 को वन विभाग को छोड़कर अन्य विभागों द्वारा लगाए गए पौधों का सफाया हो चुका है। सरकार के आदेश के बाद ग्राम पंचायत स्तर पर वन समितियों को नर्सरी और पौधे तैयार करने का काम सौंपा जा रहा है। इसके लिए मनरेगा योजना से राशि दी जाएंगी।
गौरतलब रहे कि 2 जनवरी 18 को को 6.98 लाख पौधे रोपकर राज्य सरकार ने झूठा रिकाड बनाया था जिसकी पौल जांच में उजागर हो चुकी है।
वन पंचायत एवं ग्रामीण विकास सहित अन्य विभागों ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अभियान से 50 लाख लोगों को जोडऩे के निर्देश दिए हैं। सरकार इस माध्यम से लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करना चाहती है। इस अभियान में पिछले साल 35 हजार लोगों ने योगदान दिया था।

ग्राम पंचायतों में होगा क्लस्टर तैयार
विभाग 10 ग्राम पंचायतों को मिलाकर एक क्लस्टर तैयार कर रहा है ताकि इससे एक नर्सरी तैयार होगी। नर्सरी में पौधे तैयार करने की जिम्मेदारी एक या इससे ज्यादा वन सुरक्षा समितियों को सौंपी जा चुकी है। जंगली प्रजाति के पौधों के साथ गार्डन में लगने वाले पौधे भी तैयार कर सकेंगी। उन्हें ये पौधे बेचने की भी छूट होगी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास के सहयोग से विभाग इन समितियों की 3 साल आर्थिक मदद करेगा। इसके बाद वे अपना कारोबार खुद आगे बढ़ाएंगी। उधर वन विभाग के अधिकारी 2 जुलाई को नर्मदा कैचमेंट में रोपे गए 6.98 लाख पौधों में से 95 फीसदी पौधों के जीवित होने का दावा आज भी कर रहे हैं।