मप्र में 11 लाख नए मतदाताओं को लेकर पचौरी ने जताई आशंका

भोपाल, 7 अगस्त। चुनाव से पहले मध्य प्रदेश में फर्जी मतदाताओं का मामला सुर्खियों में बना हुआ है। प्रदेश की मतदाता सूची में 11 लाख 40 हजार नए मतदाता जुड़े हैं। इसके बाद कुल मतदाता 4 करोड़ 94 लाख 42 हजार रह गए हैं। इस सूची में 30 जून तक जोड़े गए मतदाता शामिल हैं। मतदाता सूची में जोड़े गए 11 लाख नए मतदाताओं को लेकर भी कांग्रेस ने गड़बड़ी की आशंका जताई है। इस सम्बन्ध में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी और जेपी धनोपिया ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांता राव को ज्ञापन सौंपा है।
कांग्रेस की ओर से दिए गए ज्ञापन में कहा गया कि निर्वाचन कार्यालय ने जानकारी दी कि मतदाता सूची में 11 लाख नए नाम जोड़े गए हैं, लेकिन ये मतदाता कौन हैं, किस विधानसभा, किस पोलिंग बूथ में जोड़े गए हैं इसकी जानकारी नहीं दी गई। कांग्रेस ने अपनी इस आपत्तियों को लेकर मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत को भी पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि बीएलओ द्वारा संशोधन को प्रस्तावों के मुताबिक तहसीलदारों ने संशोधन तो कर दिए हैं, लेकिन उसकी रिपोर्ट मुख्य निर्वाचन कार्यालय नहीं भेजी। पचौरी ने मांग की कि मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मतदाता सूची में जोड़े गए नए नामों की जांच कराएं।