4th test: भारत की शानदार शुरूआत इंग्लैंड के 3 बल्लेबाजों को भेजा पवेलियन

साउथम्पटन, 31 अगस्त। पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के चौथे मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। भारतीय गेंदबाजों ने शानदार शुरूआत करते हुए इंग्लैंड के 2 बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। मैच के तीसरे ओवर की पहली ही गेंद पर जसप्रीत बुमराह ने ओपनर केटन जेनिंग्स पर बिना खाता खोले एल्बीडब्ल्यू आउट कर भारत को पहली कामयाबी दिलाई। इसके बाद कप्तान जो रूट भी आठवें ओवर में इशांत शर्मा की गेंद को पडऩे में नाकाम रहे और जेनिंग्स की तरह अपना विकेट भी गंवा बैठे। रूट महज 4 रन ही बना सके। ओपनर एलिस्टर कुक के साथ जोनी बेयरस्टो क्रीज पर आए, लेकिन वो भी 13वें ओवर में बुमराह का शिकार बन गए। बेयरस्टो 6 रन बनाकर पवेलियन लौटे।
पहले दो टेस्ट में शर्मनाक हार (एडबस्टन में 31 रन से और लाडर्स पर पारी के अंतर से) के बाद विराट कोहली की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए नाटिंघम में तीसरा टेस्ट 203 रन से जीता। भारतीय टीम अभी भी पांच मैचों की श्रृंखला में 1-2 से पीछे है। पिछले टेस्ट के प्रदर्शन को देखकर तो लग रहा है कि वह सर डान ब्रैडमेन की आस्ट्रेलियाई टीम के प्रदर्शन को दोहरा सकते है जिसने 1936 में दो मैच हारने के बाद एशेज श्रृंखला जीती थी।
इस मैदान पर अभी तक तीन ही टेस्ट हुए हैं। इंग्लैंड ने श्रीलंका (2011) और भारत (2014) के खिलाफ यहां खेला है और भारत को 266 रन से हराया था। भारतीय टीम यहां अपने पिछले प्रदर्शन से प्रेरणा ले सकती है। भारतीय तेज गेंदबाजों ने इंग्लैंड के शीर्षक्रम की कमजोरी उजागर कर दी है। इसके अलाव कोहली का शानदार फार्म भारत के लिये सोने पे सुहागा साबित हुआ है। अब तक इस श्रृंखला में 46 में से 38 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिये हैं। चौथे टेस्ट में हरी भरी पिच मिल सकती है जो तेज गेंदबाजों की ऐशगाह साबित हो सकती है। बल्लेबाजों का प्रदर्शन भी अच्छा रहा है जिससे अंतिम एकादश में किसी बदलाव की गुंजाइश नहीं लगती। इससे संभवत: पिछले 45 मैचों से हर मैच में बदलाव के सिलसिले पर भी रोक लग सकती है। इसकी शुरूआत 2014 में साउथम्पटन से ही हुई थी।
भारत: विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, हार्दिक पंड्या, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह.
इंग्लैंड: जो रूट (कप्तान), मोइन अली, जेम्स एंडरसन, जॉनी बेयरस्टॉ, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोस बटलर (विकेटकीपर), एलिस्टेयर कुक, सैम कुरेन, बेन स्टोक्स, केटन जेनिंग्स, आदिल राशिद।