आयोग केंद्र के दबाव में काम कर रहा : शोभा ओझा

भोपाल, 4 अप्रैल। कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने आरोप लगाया है कि आयोग केंद्र सरकार के दबाव में काम कर रहा है।
साथ ही यह दावा किया कि आयोग की आपत्ति आधारहीन है, आयोग एक स्वतंत्र और संवैधानिक संस्था है, उसे विज्ञापन जारी करने की अनुमति दे देना चाहिए। चुनाव आयोग मोदी सरकार के दबाव में काम कर रहा है। आयोग ने कांग्रेस के आधा दर्जन चुनावी विज्ञापन और वीडियो सिर्फ इसलिए रोक दिए, क्योंकि उनमें राफेल की फाइल, जुमला, अंधभक्त, स्मार्ट सिटी, 56 इंच और मित्रोमेनिया जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। पत्रकार वार्ता में ओझा ने बताया कि विज्ञापनों में ये सभी शब्द व्यंग्य के रूप में डाले गए हैं। एक विज्ञापन में राफेल की फाइल गुमने पर भी तंज कसा गया, आयोग ने इस पर भी आपत्ति ली है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने इस मुद्दे पर आयोग में अपील कर दी है। यदि न्याय नहीं मिला तो इन विज्ञापनों को लेकर पार्टी जनता के सामने भी जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि विधानसभा चुनाव में भी एक विज्ञापन पर रोक लगाई गई थी, जिसे बाद में जारी कर दिया गया था। उम्मीद है कि आयोग मौजूदा विज्ञापनों पर भी निर्णय लेगा। राफेल फाइल पर हुए सवाल को लेकर वह बोलीं कि यह बात सरकार सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कह चुकी है तो उसमें अब क्या दिक्कत है।

मंत्री पीसी शर्मा ने आचार संहिता का उल्लंघन किया : भाजपा
भोपाल। भाजपा ने बुधवार के नार्मदीय भवन में आयोजित कार्यक्रम में मंत्री पीसी शर्मा द्वारा कार्यकर्ताओं को बूथ जिताने पर नौकरी देने का प्रलोभन देने की शिकायत की है। भाजपा के मुताबिक यह आचार संहिता के उल्लंघन के दायरे में आता है। मामले की गंभीरता को देखते हुए शिकायत पर कलेक्टर से रिपोर्ट तलब की जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के चुनाव प्रचार अभियान के दौरान बुधवार को मंत्री पीसी शर्मा ने कार्यकर्ताओं में जोश भरने बूथ जिताओ, नौकरी पाओ का जो ऑफर दिया था। भाजपा ने इसे आचार संहिता का खुला उल्लंघन बताते हुए शिकायत दर्ज कराई है। वहीं, भाजपा के मैं भी चौकीदार अभियान के तहत बांटी जा रही टी-शर्ट को लेकर कलेक्टरों से रिपोर्ट मांगी गई है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि वहीं, मैं भी चौकीदार के स्लोगन वाली टी-शर्ट बांटे जाने को लेकर कांग्रेस की शिकायत पर सभी कलेक्टरों से रिपोर्ट मांगी गई है। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि भाजपा द्वारा अभियान के तहत यह काम किया जा रहा है, जो आचार संहिता का उल्लंघन है।