शराब दुकानों की अब होगी ऑनलाइन मॉनिटरिंग


आबकारी विभाग कर रहा तैयारी

हृदेश धारवार, 9755990990
भोपाल, 7 अगस्त। शराब की कालाबाजारी रोकने के लिए मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार ने छत्तीसगढ़ की तर्ज पर प्रदेश की सभी शराब दुकानों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग करने का फैसला लिया है।
इस सिस्टम के लागू होने के बाद सभी शराब की दुकानें सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहेंगी। जहां खरीदी-बिक्री वाले स्थान पर कैमरे से नजर रखी जाएगी। ऑनलाइन मॉनिटरिंग होने से शराब दुकान के काउंटर पर पहुंचने वाले हर व्यक्ति की गतिविधियों की निगरानी रखी जाएगी। शराब दुकान की ऑनलाइन मॉनिटरिंग के लिए सेंट्रलाइज सिस्टम तैयार किया जाएगा। इस सिस्टम के माध्यम से तय मात्रा से ज्यादा शराब खरीदने वाले लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। वहीं शराब दुकानों के कर्मचारियों के गतिविधियों पर भी नजर रहेगी। जिससे किसी तरह की गड़बड़ी न हो सके। ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम लागू करने के साथ ही विभाग द्वारा बार-कोड मशीन उपलब्ध कराए जाने की योजना है। बार-कोड मशीन से दुकानों में बिकने वाले एक-एक बोतल व स्टॉक का हिसाब-किताब ऑनलाइन रहेगा।
दुकानों की गतिविधियों पर रखी जाएगी नजर
शराब दुकान के संचालन में ठेकेदार को कई बार शराबियों की बदतमीजी का सामना करना पड़ता है। कई बार लड़ाई-झगड़े की नौबत आ जाती है। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए भी यह सिस्टम कारगर साबित होगा। शराब बिक्री के दौरान तोडफ़ोड़ की घटनाएं भी सामने आती हैं। कई बार पुलिस को खबर देने के बाद भी अधिकांश क्षेत्र की पुलिस नहीं पहुंचती है। इस सिस्टम से शराब दुकानों की गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी।
शराब की कालाबाजारी पर लगेगी लगाम
ऑन लाइन मॉनिटरिंग सिस्टम लागू होने से शराब की कालाबाजारी पर भी लगाम लगेगी। अभी तक शराब तस्कर ठेकेदारों की मिलीभगत से टैक्स चोरी करके शराब की कालाबाजारी करवाते हैं। ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम लागू होने से शराब की कालाबाजारी भी नहीं हो सकेगी।

इनका कहना है
आबकारी विभाग ने प्रदेश की सभी दुकानों को जीपीएस सिस्टम से जोड़ दिया है। सभी दुकानों की ऑनलाइन लोकेशन विभाग के पास मौजूद है। सिस्टम को और बेहतर कैसे बनाया जा सकता है, इस पर विभाग लगातार काम कर रहा है।
मनु श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव, वाणिज्य कर विभाग मप्र शासन