कोरोना संदिग्ध की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत

तेलंगाना से लौटा था युवक, लक्षण दिखने के बाद कराया गया था अस्पताल में भर्ती
जगदलपुर । कोरोना संदिग्ध एक मरीज की मौत से बस्तर में हड़कंप है। कोरोना के लक्षण उभरने के बाद युवक को जगदलपुर मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। हालांकि अभी तक उसकी सैंपल की रिपोर्ट नहीं है, लिहाजा रिपोर्ट के बाद ही कोरोना की पुष्टि हो पायेगी। हालांकि कलेक्टर अय्याज तंबोली ने इस बात की पुष्टि की है, युवक में कोरोना के लक्षण उभरने के बाद ही उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया।
मृतक की ट्रेवल हिस्ट्री तेलंगाना की बतायी जा रही है, युवक वहां पर मजदूरी का काम किया करता था, लेकिन काम बंद हो जाने के बाद युवक को वापस दंतेवाड़ा भेज दिया गया था। युवक तेलंगाना के भद्राचल में काम किया करता था। हालांकि युवक को टीबी की भी बीमारी थी, इसलिए रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है। कलेक्टर अय्याज तंबोली ने बताया कि “युवक की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, युवक टीबी का भी मरीज था, कोरोना का लक्षण भी उससे मिलता जुलता है, लिहाजा जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक कह पाना संभव नहीं है कि वो कोरोना का मरीज था या नहीं, लेकिन उसमें कुछ लक्षण थे, अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था, जिसकी मौत हो गयी है, परिवार के चार सदस्यों को भी क्वारंटाईन किया गया है और सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है”जानकारी के मुताबिक युवक को अस्पताल में ही क्वारंटाईन करके रखा गया था, कुछ दिन पहले ही दंतेवाड़ा से उसे जगदलपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया था। उसके साथ परिवार के चार लोग भी आये थे, जिन्हें क्वारंटाईन में रखा गया है और सभी के सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है। दंतेवाड़ा कलेक्टर टीपी वर्मा ने बताया कि “युवक तेलंगाना से लौटा था, लेकिन गांववालों ने उसे गांव में घुसने नहीं दिया , ट्रेवल हिस्ट्री और तबीयत खराब होने की वजह से उसे जगदलपुर भेजा गया था, उसे टीबी की भी बीमारी थी, इसलिए रिपोर्ट के बाद ही साफ हो पायेगा कि युवक को कोरोना था या नहीं”