रेत व्यापारी से पार्टनर बनना चाहते मंत्री जी, पोलिटिकल फंडिंग के लिए


मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते उद्योग धंधे बंद है। सरकारी योजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए सरकारी खजाने में अकाल जैसी स्थिति है। केन्द्र से फंड आते हैं, घूम फिर कर कोरोना में लग जाते हैं। वित्तीय संकट का यह असर रेत व्यापार के ठेकेदारों पर नहीं है। यदि संकट हैं तो विकास योजनाओं की गति रुकने से, कमीशन खोरी बंद है, नेताओं के पास विकास के कामों में लगे एसडीओ से लेकर मुख्य अभियंता तक उपकृत होने का अवसर समाप्त जैसा है। ऐसी स्थिति में एक मंत्री जी पार्टी कार्यकर्ताओं की मदद के लिए ‘पोलिटिकल फंडिंगÓ की योजना बना रहे हैं। सूत्रों के अनुसार उक्त मंत्री ने रेत के एक बड़े रसूखदार कंपनी से ‘डीलÓ कर ली है कि 25 प्रतिशत की पार्टनरशिप होगी तभी यहां काम सुचारू रूप से चलेगा, वरना ठेकेदार समझदार है। उल्लेखनीय है उपरोक्त वाक्या केबिनेट मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया को लेकर नहीं लिखा गया है…। -खबरची