योगी ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, पुलिस महानिदेशक सुरेश चंद्र अवस्थी ने पीडि़त परिवार से मुलाकात की

हाथरस गैंगरेप

हाथरस, 3 अक्टूबर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कथित हाथरस गैंगरेप मामले की सीबीआई से जांच कराने की सिफारिश केंद्र सरकार से की है। हाथरस घटना को लेकर विपक्ष के साथ-साथ बीजेपी संगठन और बीजेपी नेताओं की तरफ से नाराजगी और सवाल उठाने के बाद आखिरकार योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस घटना की जांच सीबीआई से कराए जाने का फैसला लिया है। शनिवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी पुलिस महानिदेशक सुरेश चंद्र अवस्थी हाथरस पहुंचे और पीडि़त परिवार से मुलाकात की। दोनों वरिष्ठ अधिकारियों के लखनऊ वापस आने और मुख्यमंत्री को पूरी रिपोर्ट देने के बाद मुख्यमंत्री के स्तर पर इस घटनाक्रम की जांच सीबीआई से कराए जाने की संस्तुति केंद्र सरकार से की गई है।
अपर मुख्य सचिव ने परिवार से मिलने के बाद कहा
हर शिकायत की एसआईटी जांच करेगी
हाथरस, 3 अक्टूबर। हाथरस गैंगरेप पीडि़त का शव जलाने के 3 दिन बाद पुलिस ने मीडिया को पीडि़त के गांव (बुलगढ़ी) में एंट्री दी है। मीडिया से बातचीत में पीडि़त परिवार ने पुलिस और प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए। मां ने कहा, आखिरी बार बेटी का मुंह भी नहीं देखने दिया, हमें तो ये भी पता नहीं कि पुलिस ने किसकी लाश जलाई और हम किसकी हड्डियां लाए हैं। डीएम साहब ने हमें काफी धमकाया। कहा कि तुम्हारी बेटी कोरोना से मर जाती तब क्या करते। इस बीच, उत्तर प्रदेश के दो अफसर, अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी बुलगढ़ी पहुंचे हैं। दोनों अफसरों ने करीब 20 मिनट तक परिवार से बातचीत की। अवनीश अवस्थी ने कहा, कल एसआईटी की पहली रिपोर्ट मिली है। इसके बाद राज्य सरकार कार्रवाई की। एसपी, सीओ और इंस्पेक्टर समेत पांच लोगों को निलंबित किया। एसआईटी की जांच चल रही है। परिवार वालों ने जो भी चीज हमें नोट करवाई है। हमने उन्हें भरोसा दिलाया है कि उनकी हर शिकायत और हर बात की एसआईटी जांच करेगी। गांव में सुरक्षा व्यवस्था लगातार बनी रहेगी। जो भी जन प्रतिनिधि यहां आना चाहेंगे, उन्हें छूट दी गई है। पांच लोगों को इजाजत दी जाएगी।
डीएम का नार्को टेस्ट होना चाहिए
पीडि़त की भाभी ने कहा कि पुलिस ने हमसे मारपीट की। पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होनी चाहिए। हमारा नार्को टेस्ट करवाने की बात कही जा रही है, लेकिन नार्को टेस्ट तो डीएम का होना चाहिए। हम तो सच बोल रहे हैं। वहीं, पीडि़त के भाई ने बताया कि बुधवार रात 10 बजे तक पुलिस घर पर रही। इस दौरान किसी को कहीं जाने नहीं दिया। हमें किसी की कोई खबर नहीं। हम यही चाहते हैं कि जांच ठीक से हो।

स्मृति ईरानी ने साधा राहुल गांधी पर निशाना, कहा
हाथरस कूच उनकी अपनी राजनीति, जनता खूब समझती है
कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि उनका हाथरस कूच करना सिर्फ अपनी राजनीति करना है। बता दें कि हाथरस गैंगरेप मामले में महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी की चुप्पी पर विपक्ष लगातार सवाल उठा रहा था।
हाथरस गैंगरेप मामले में तेज होती राजनीति के बीच केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि उन्हें यकीन है कि सीएम योगी आदित्यनाथ इस मामले में न्याय करेंगे। स्मृति इरानी ने वाराणसी में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, राहुल गांधी राजनीति के लिए हमेशा प्रयासरत रहे हैं लेकिन राष्ट्रनीति में सफल नरेंद्र मोदी रहे हैं। मुझे लगता है कि स्वतंत्र देश ने जनता कांग्रेस के हथकंडों को भलीभांति समझा है। कोई भी नेता किसी भी विषय में राजनीति करना चाहता है तो मैं उसे रोक नहीं सकती है, लेकिन जनता समझती है कि हाथरस में कूच उनकी अपनी राजनीति के लिए है न कि पीडि़ता को न्याय दिलाने के लिए।