आंध्र प्रदेश में खुले स्कूल, 3 दिन में 262 छात्र और 160 शिक्षक निकले कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने जब भारत में दस्तक दी तो सबसे पहले स्कूलों को बंद किया गया। उस दौरान बोर्ड की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गईं थी। अब अनलॉक के साथ सभी गतिविधियां सामान्य हो रही हैं। इस बीच आंध्र प्रदेश सरकार ने 2 नवंबर से 9वीं और 10वीं के छात्रों के लिए स्कूल खोल दिया। जिसके अब गंभीर परिणाम सामने आए हैं। पिछले तीन दिनों में राज्य में 262 छात्र और 160 शिक्षकों की कोविड-19 जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है, हालांकि शिक्षा विभाग इस आंकड़े को सामान्य बता रहा है।

शिक्षा विभाग के मुताबिक 2 नवंबर से उन्होंने 9वीं और 10वीं के छात्रों को स्कूल बुलाना शुरू किया था। 4 नवंबर को करीब 3.93 लाख छात्र स्कूल आए थे, जबकि इन दोनों क्लास में छात्रों की संख्या 9.75 लाख है। इसके साथ ही इसमें से 262 पॉजिटिव मिले हैं। मामले में शिक्षा अधिकारियों ने कहा कि कोई चिंताजनक बात नहीं है क्योंकि ये आंकड़ा स्कूल आ रहे छात्रों की संख्या का 0.1 प्रतिशत भी नहीं है। अधिकारियों के मुताबिक ये कहना भी गलत होगा कि स्कूल आने की वजह से बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए। उनके मुताबिक स्कूलों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जा रहा है। एक कमरे में अभी 15 या 16 छात्र ही बैठ रहे हैं।

वहीं राज्य शिक्षा विभाग के मुताबिक अभी उनके यहां 1.11 लाख शिक्षक हैं, जिसमें से 99 हजार शिक्षक 4 नवंबर को स्कूल पढ़ाने पहुंचे थे। जिसमें से 160 शिक्षकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शिक्षकों की संख्या के हिसाब से ये आंकड़ा भी कम है। विभाग ने बताया कि छात्रों और शिक्षकों दोनों की जान उनके लिए महत्वपूर्ण है, जिस वजह से फैसले सोच-विचार कर लिए जा रहे हैं। अभी सिर्फ 40 प्रतिशत छात्र ही स्कूल आ रहे हैं, क्योंकि तमाम दिशा-निर्देशों के बाद भी माता-पिता बच्चों को भेजने में डर रहे हैं।