सुप्रीम कोर्ट ने धर्मांतरण पर मप्र के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करने से किया इनकार

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने दूसरे धर्म में शादी करने के चलते होने वाले धर्मांतरण का नियमन करने संबंधी मध्य प्रदेश के विवादास्पद अध्यादेश की वैधता को चुनौती देने वाली एक याचिका पर विचार करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया। प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता अधिवक्ता विशाल ठाकरे को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय का रुख करने को कहा। पीठ के सदस्यों में न्यायमूर्ति
एएस बोपन्ना और न्यायामूर्ति वी रामासुब्रमणियन भी शामिल हैं। न्यायालय ने कहा कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय का रुख करें, हम (इस विषय पर) उच्च न्यायालय का विचार जानना चाहेंगे, हमने इस तरह के विषयों को उच्च न्यायालय के पास भेजा है।