विद्यार्थियों में विकसित करें वैज्ञानिक सोच: जैन

निज संवाददाता
भोपाल, 13 फरवरी। ऊर्जा मंत्री पारस जैन ने कहा है कि विद्यार्थियों को विज्ञान से जोडऩे के साथ ही उनमें वैज्ञानिक सोच भी विकसित की जाना चाहिये। श्री जैन भेल दशहरा मैदान में मेपकॉस्ट और विज्ञान भारती के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सातवें भोपाल विज्ञान मेला का समापन कर रहे थे। कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री ने जेएनयू, नई दिल्ली के वाइस चांसलर प्रो. एम. जगदेश कुमार को विज्ञान प्रतिभा सम्मान प्रदान किया तथा मेले में विज्ञान के श्रेष्ठ मॉडल प्रदर्शित करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया।
पारस जैन ने कहा कि विज्ञान की नवीन तकनीक का ही परिणाम है कि मध्यप्रदेश में बिजली उत्पादन और सिंचाई के रकबे में आशातीत वृद्धि हुई है। विज्ञान के माध्यम से खेती को बढ़ावा दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय परम्परा में वैज्ञानिक अवधारणाओं एवं प्रौद्योगिकी नवाचार को विशेष महत्व दिया गया है। नई पीढ़ी में वैज्ञानिक दृष्टिकोण को प्रोत्साहित करने के लिये राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। पारस जैन ने कहा कि विज्ञान मेला विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हो रहे नवीन शोध कार्यों, आधुनिक तकनीक में उन्नयन से संबंधित सूक्ष्म से सूक्ष्म जानकारी को प्रदर्शित करने का सशक्त माध्यम है।
प्रो. एम. जगदेश कुमार ने विज्ञान के क्षेत्र में हो रहे विस्तार की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक क्षेत्र विज्ञान के बिना अधूरा है। नीति आयोग के सदस्य व्ही.के सारस्वत ने कहा कि विज्ञान को संचार से अलग नहीं किया जा सकता। उद्योगों में विज्ञान को बढ़ावा दिये जाने की बात भी उन्होंने कही। कार्यक्रम को मेपकॉस्ट के महानिदेशक डॉ. नवीन चंद्रा, विज्ञान भारती के अध्यक्ष डॉ. एन.पी. शुक्ला, राष्ट्रीय महासचिव विज्ञान भारती ए. जयकुमार आदि ने संबोधित किया। इस अवसर पर सचिव भोपाल विज्ञान मेला तस्त्रीम हबीब, राजीव जैन, विजय कुमार सखलेचा सहित अनेक वैज्ञानिक और विद्यार्थी उपस्थित थे।