कोरोना मरीजों से ज्यादा राशि वसूलने वाले निजी अस्पतालों पर की जाएगी कार्रवाई: सारंग

मंत्री सारंग ने ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर लिया कोरोना कफ्र्यू का जायजा

भोपाल, 10 मई। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने आष्टा जनपद के ग्राम बैदाखेड़ी एवं खड़ीहाट का भ्रमण कर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए की जा रही कार्रवाई का जायजा लिया। इसके बाद आष्टा में क्राईसिस मेनेजमेंट गु्रप की बैठक ली। बैठक में उन्होंने आष्टा जनपद में कोविड संक्रमण को रोकने के लिए की जा रही गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की। मंत्री सारंग ने जन-प्रतिनिधियों से कोरोना कफ्र्यूू को प्रभावी बनाने के लिए सक्रिय भूमिका निभाने के लिए कहा। बैठक में उन्होंने उपस्थित सदस्यों से जिला प्रशासन द्वारा कोविड मरीजों के इलाज और संक्रमण को रोकने की वस्तुस्थिति की जानकारी ली। सारंग ने कहा कि कोविड मरीजों के इलाज में निजी अस्पतालों द्वारा निर्धारित पैकेज से अधिक राशि की वसूली की शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अस्पतालों के लिए जरूरत के हिसाब से आवश्यक उपकरण उपलब्ध करवाये जायेंगे। मंत्री सारंग ने कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए प्रशासन, जनप्रतिनिधि तथा नागरिकों को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चैन ब्रेक करने के लिए नगरीय क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक कोरोना कफ्र्यू का सख्ती से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरुक किया जाए कि वे स्वयं आगे आकर अपने गांव, अपने मोहल्ले तथा अपने वार्डों को पूर्णत: बंद रखना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जनता की ओर से स्वयं कोरोना कफ्र्यू का पालन किया जाएगा तो इसके शीघ्र और सार्थक परिणाम मिलेंगे और कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सकेगा। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से ग्राम एवं वार्ड स्तर पर समिति गठित कर कोरोना संक्रमण को रोकने में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए कहा।
मंत्री सारंग ने गांव में पहुंचकर कोरोना कफ्र्यू का लिया जायजा: चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने आष्टा जनपद के ग्राम बेदाखेड़ी और खड़ीहाट में पहुंचकर कोरोना कफ्र्यू का पालन सुनिश्चित कराने के लिए की जा रही कार्यवाहियों को देखा। साथ ही उन्होंने गांव में किल कोरोना अभियान के तहत चल रहे सर्वे के बारे में ग्रामवासियों से जानकारी ली। सारंग ने ग्रामवासियों से कहा कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तो शीघ्र कोरोना संक्रमण की चैन को ब्रेक किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सर्दी, जुखाम, बुखार होने पर स्वयं पहल कर सर्वेदल अथवा स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचकर शीघ्र इलाज लें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ अमले से कहा कि लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरुक किया जाए। उपस्थित अधिकारियों से सारंग ने किल कोरोना अभियान के तहत सर्वे की जानकारी ली। इस दौरान सांसद महेन्द्र सिंह सोलंकी, विधायक रघुनाथ मालवीय, जनपद अध्यक्ष धारा सिंह पटेल सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।