मंत्री पुत्रों-रिश्तेदारों की ‘रिपोर्ट’ की जांच शुरू…

मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के एक दर्जन मंत्रियों के पुत्रों एवं रिश्तेदारों के हस्तक्षेप को लेकर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह का दफ्तर सतर्क बताया जा रहा है। समझा जाता है कि शिवराज सिंह चौहान जब से चौथी बार मुख्यमंत्री का पद सम्हाला तब से उन्होंने पहला बड़ा काम यह किया कि मुख्यमंत्री निवास में रिश्तेदारों, भाई, भतिजों पर प्रतिबंध लगा दिया, जिसमें उनके सगे भाई भी शामिल है। लेकिन इसके ठीक विपरित लगभग एक दर्जन मंत्रियों के पुत्रों एवं रिश्तेदारों के हस्तक्षेप को लेकर भाजपा के एक पूर्व सांसद और राष्ट्रीय स्तर के नेता ने खतरनाक रिपोर्ट केन्द्रीय मंत्री अमित शाह के पास भेज दी है, उसमें उन्होंने जिक्र किया है कि कोविड की आपदा के कारण इस ओर मुख्यमंत्री का ध्यान नहीं है, परन्तु मंत्री के रिश्तेदारों ने धमा-चौकड़ी मचा रखी है, पटवारी से लेकर कलेक्टर परेशान है इन सबने आपदा को अवसर बना लिया है। सूत्रों के अनुसार नई दिल्ली भाजपा मुख्यालय में उपरोक्त राष्ट्रीय नेता की रिपोर्ट पर गंभीरता से जांच कराये जाने की खबर हवा में है। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त रिपोर्ट जिस राष्ट्रीय नेता ने तैयार की है उसका संबंध इस सर्वाधिक लोकप्रिय कालम में भाजपा के पूर्व सांसद एवं पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा से नही है…। -खबरची