PUB-G खेलते-खेलते खूब चिल्लाता था:नानी से कहा था-मैं जा रहा हूं, जिंदा रहा तो ठीक, मर गया तो मम्मी को समझा लेना, रोना मत

अंबिकापुर/बिलासपुर: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर का रहने वाला युवक PUB-G गेम का इतना बड़ा दीवाना था कि उसने अपने किडनैपिंग की झूठी कहानी रच डाली। बताया गया कि वह गेम खेलते-खेलते इतना चिल्लाता था कि उसके मां-बाप ने उसे अलग से कमरा दिला दिया। यहीं से उसकी लत और बढ़ गई। वो दिनभर कई घंटों तक गेम खेलता रहता था। घर से जाने से पहले ही उसने नानी को बताया था कि मैं गेम में जीत गया हूं, मैं जाने वाला हूं।

10 दिसंबर को अंबिकापुर के कोतवाली थाना इलाके के कंपनी बाजार में रहने वाला वाशु विश्वकर्मा (19) घर से लापता हुआ था। इसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चला था। घरवालों की शिकायत और पतासाजी के बाद मंगलवार को उसे बिलासपुर से बरामद किया गया है। लेकिन इस मामले में जो खुलासे हुए हैं, वह हैरान करने वाले हैं।

वाशु विश्वकर्मा की नानी शोभा देवी विश्वकर्मा ने बताया कि 10 दिसंबर को वाशु ने उनसे कहा था कि गेम में वह जीत गया है, वह जाने वाला है। फिर वह उन्हें उनके घर छोड़कर निकल गया था। इसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चल सका था। जब वह देर रात तक घर नहीं लौटा तब इसकी शिकायत से पुलिस से की गई थी। शोभा ने बताया कि हमें पता ही नहीं चला कि वह फोन में दिनभर करता क्या था। ये PUB-G गेम बहुत ही खरतनाक है। ऐसे तो वो अपनी जान ले लेता।

वाशु ने अपने घरवालों को अपनी अर्धनग्न तस्वीर भेजी थी।

वाशु ने अपने घरवालों को अपनी अर्धनग्न तस्वीर भेजी थी।

जिंदा रहा तो ठीक, मर गया तो मम्मी को समझा लेना

वाशु ने गायब होने के अगले दिन अपने वॉट्सऐप नंबर से मैसेज किया था। जिसमें उसने बताया था कि मुझे किडनैप कर लिया गया है। मेरे कपड़े उतार कर मुझे रखा गया है। आगे लिखा था कि मैं जिंदा रहा तो ठीक है, और मर गया तो रोना मत, मम्मी को भी समझा देना। ये सोचना की घर छोड़कर भाग गया हूं। इसके बाद उसने रोते हुए एक इमोजी भेजा और गुड बॉय, जिंदा रहूंगा तो फिर मिलेंगे कहकर मैसेज करना बंद कर दिया।

डरावनी आवाज में ऑडियो मैसेज

इसके अलावा वाशु ने वॉट्सऐप पर ऑडियो मैसेज भी किया था। जो डब की गई थी। ऑडियो में बेहद ही डरावनी आवाज में कहा गया था कि तेरे बच्चे को छुड़ाना है तो 20 लाख देने होंगे। उसी ऑडियो में कहा गया कि तेरे बेटे को ऐसी जगह मारकर फेकूंगा कि मिलेगा भी नहीं। बाद में फिरौती की रकम को 4 लाख रुपए कर दिया गया और वॉट्सऐप में ही वाशु की अर्धनग्न तस्वीर भेजी गई। यह सब देखकर परिजन परेशान हो गए और इन्होंने इन सब बात की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की थी।

मंगलवार को पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया।

मंगलवार को पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया।

पुलिस ने वॉट्सऐप से किए गए मैसेज और फोन कॉल के जरिए ही उसका पता लगाया। जिसमें उसका लोकेशन बिलासपुर के एक निजी होटल में मिली। पुलिस ने मौके से जाकर उसे बरामद कर लिया और घरवालों को सौंप दिया है।

पिछले एक साल से गेम खेल रहा था

पुलिस की जांच में पता चला कि वह पिछले एक साल से गेम खेल रहा था। उसके कुछ और दोस्त भी हैं, जो गेम खेलते थे। मगर उनके बारे में पुलिस ने अभी कोई और जानकारी नहीं दी है। वाशु घर जाने से पहले 14 हजार लेकर भागा था। उन्हीं पैसे के जरिए वह बिलासपुर के होटल में रह रहा था। गेम में दाव लगाने के चक्कर में पहले भी वह अपनी बाइक बेच चुका था।

4 लाख के जरिए एक करोड़ जीतना चाहता था

वाशु ने पुलिस को बताया कि वह 4 लाख रुपए फिरौती लेकर गेम के जरिए एक करोड़ जीतना चाहता था। इसलिए ही उसने पूरी साजिश रची थी। पुलिस ने वाशु के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की है। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि अपने बच्चों का विशेष ध्यान रखें।