गांगुली ने कहा: मैदान पर विराट का एटीड्यूड अच्छा, पर झगड़ा बहुत करता है

कोहली के एटीट्यूड पर दादा फिदा:

नई दिल्ली भारतीय क्रिकेट में कप्तानी विवाद के बीच BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने तनाव बढ़ाने वाला बयान दिया है। गांगुली से विराट कोहली के एटीट्यूड पर सवाल किया गया था। इस पर दादा ने जवाब दिया कि उन्हें कोहली का एटीट्यूड पसंद है, लेकिन वह झगड़ा बहुत करते हैं। सौरव गांगुली गुरुग्राम में एक कार्यक्रम में पहुंचे थे, जहां उनसे पूछा गया कि उन्हें किस खिलाड़ी का एटीट्यूड पसंद है।

सौरव से यह भी पूछा गया कि आप जिंदगी के स्ट्रेस को कैसे हैंडल करते हैं। इस पर गांगुली ने हल्का-फुल्का बयान दिया। उन्होंने कहा- जिंदगी में कोई तनाव नहीं है। तनाव तो सिर्फ बीवी और गर्लफ्रेंड देती हैं।

विराट कोहली को जब से वनडे में कप्तानी के पद से हटाया गया है, टीम इंडिया में मानों भूचाल सा आ गया है। कोहली और BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के बीच आपसी विवाद की बातें अब खुलेआम सामने आ रही हैं। अब इसको लेकर दोनों के फैंस भी आपस में भिड़ गए हैं।

सौरव गांगुली के लिए उनके एक फैन ने फोटो शेयर कर लिखा- जो भी हो मैं बचपन से दादा का फैन हूं और पूरी उम्र उनका ही फैन रहूंगा। पूरा देश गांगुली के साथ खड़ा है।

गांगुली के फैन के इस ट्वीट पर कोहली के समर्थक ने जवाब दिया- किंग कोहली का अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान।

गांगुली के समर्थक यहीं नहीं रुके उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा- जिस आदमी ने भारत को सहवाग, युवराज, धोनी, जहीर और हरभजन जैसे खिलाड़ी दिए, उस दिग्गज के साथ पूरा देश खड़ा है।

गांगुली के फैन के इस ट्वीट पर कोहली के फैंन ने जवाब दिया- कोहली भारतीय क्रिकेट का शेर है। पूरा विश्व अपने शेर के साथ खड़ा है।

कोहली पर फैसला BCCI लेगी
गुरुवार को गांगुली से पत्रकारों ने पूछा कि साउथ अफ्रीका दौरे के बाद विराट कोहली के खिलाफ कोई कार्रवाई होगी? इसको लेकर गांगुली ने कहा, ‘मुझे कुछ नहीं कहना है, यह BCCI का मामला है और उन्हें ही इससे निपटना है। हम इसे आगे नहीं बढ़ाते हैं, मुझे इस बारे में कुछ नहीं कहना है।’

दो दिन पहले भी जब पत्रकारों ने गांगुली से कोहली के बारे में सवाल किया था तो उन्होंने यही बयान दिया था कि कोहली से BCCI ही निपटेगा।

अब तक हुआ क्या है?
BCCI की सीनियर सिलेक्शन कमेटी ने रोहित शर्मा को वनडे और टी-20 टीम का कप्तान बनाने की घोषणा की। विराट वनडे की कप्तानी नहीं छोड़ना चाहते थे। इस पर गांगुली ने कहा कि बोर्ड ने उनसे सितंबर में ही कहा था कि अगर वे टी-20 की कप्तानी छोड़ेंगे तो वनडे में उन्हें कप्तान बनाए रख पाना मुश्किल होगा। इसलिए वे टी-20 में कप्तान बने रहें।

गांगुली के मुताबिक, विराट ने ऐसा करने से मना कर दिया और फिर BCCI के पास विराट से वनडे कप्तानी लेने के अलावा कोई चारा नहीं रह गया था। बकौल गांगुली WHITE BALL क्रिकेट में दो कप्तान नहीं हो सकते हैं।