प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों तक स्वास्थ्य सुविधाओं के प्रसार के लिए चिकित्सा संस्थान आगे आये :मुख्यमंत्री श्री चौहान।

प्राइवेट चिकित्सा संस्थान सेवा-भाव और समर्पण से मरीजों को ईलाज मुहैया करवाये। नेशनल अस्पताल में विश्व स्तरीय कैथ लेब का लोकार्पण।

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों तक आधुनिक स्वास्थ्य सुविधाओं के प्रसार के लिए बड़े चिकित्सा संस्थानों को आगे आने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए सुनियोजित पॉलिसी लाने पर विचार कर रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान रविवार को भोपाल के नेशनल अस्पताल में विश्व की आधुनिक और मध्य भारत की पहली आधुनिक कैथ लेब का उद्घाटन कर सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेक जौहरी, मुख्यमंत्री श्री चौहान की धर्म पत्नी श्रीमती साधना सिंह और अस्पताल के प्रमुख डॉ. पी. के. पांडे उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज का दिन देश के लिए भी विशेष और महत्वपूर्ण है, क्योंकि आज ही के दिन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड से युद्ध के लिए वैक्सीन की शुरुआत की थी। उन्होंने वैज्ञानिकों सहित डॉक्टर्स और वैक्सीनेशन से जुड़े हर एक व्यक्ति और संस्थाओं को धन्यवाद भी दिया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नेशनल अस्पताल में आज से ह्रदय रोगियों के लिये शुरू हुई यह कैथ लेब परफेक्ट रिजल्ट देगी, जिससे रोगी का एकदम सही उपचार हो सकेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोविड काल में चिकित्सा संस्थानों के मिले सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि प्राइवेट अस्पताल सेवाभावी बने और व्यावसायिक मानसिकता से बचें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि समर्पण भाव से की गई रोगियों की सेवा से बड़ा कोई महान प्रतिफल हो ही नहीं सकता। नेशनल अस्पताल इस नए कैथ लेब के मार्फ़त मध्यभारत में अपने सेवा-भाव से नई पहचान स्थापित करेगा।

लेब की तकनीक को जाना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कैथ लेब का उद्घाटन कर लेब के तकनीकी पहलुओं की जानकारी ली।