Test Cricket के इतिहास में 4 ही बल्लेबाज कर पाए ये कारनामा, लिस्ट में धाकड़ भारतीय शामिल

नई दिल्ली: टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) को हमेशा ही धैर्यपूर्ण तरीके से खेला जाता है. यहां क्लासिक बल्लेबाजी की जरूरत होती है. टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में जो भी बल्लेबाज संयम दिखाएगा. वहीं पांच दिन के क्रिकेट में टिक पाता है. टेस्ट क्रिकेट का जनक इंग्लैंड को माना जाता है. टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) के इतिहास (history) में चार ही बल्लेबाज दो तिहरे शतक लगा पाए हैं, इस लिस्ट में एक धाकड़ भारतीय शामिल है. इस इंडियन बल्लेबाज के नाम से सभी गेंदबाज खौफ खाते हैं. 

1. ब्रायन लारा 

ब्रायन लारा (Brian Lara) दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में गिने जाते हैं. सारा के नाम ही टेस्ट क्रिकेट का सर्वोच्चय स्कोर बनाने का रिकॉर्ड हैं. उन्होंने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ 400 रनों की पारी खेली थी. 1994 में भी लारा ने इंग्लैंड के खिलाफ 375 रनों की पारी खेली थी. लारा अपनी विस्फोटक पारियों के लिए जाने जाते हैं. 

2. क्रिस गेल 

क्रिस गेल (Chris Gayle) ने टी20 क्रिकेट में दुनिया के सिक्सर किंग है. लाल गेंद के क्रिकेट में भी उन्होंने अपनी बल्लेबाजी के जौहर दिखाए हैं. गेल ने साल 2005 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 317 रन बनाए थे. वहीं साल 2010 में गेल ने श्रीलंका के खिलाफ 333 रनों की पारी खेली थी. क्रिस गेल दुनिया भर की क्रिकेट लीग में खेलते हैं. इसी वजह से पूरी दुनिया में उनके फैंस मौजूद हैं. 

3. डॉन ब्रेडमैन 

पूरी दुनिया के महान बल्लेबाज जिन्हें डॉन ब्रेडमैन (Don Bradman) ने भी अपने क्रिकेट करियर में दो तिहरे शतक जमाए हैं डॉन ने अपने दो तिहरे शतक इंग्लैंड टीम के खिलाफ ही लगाए हैं. उन्होंने 1934 में 334 रन और 1930 में 304 रनों की पारी खेली थी. इस दिग्गज खिलाड़ी ने अपने क्रिकेट करियर में सिर्फ 52 टेस्ट मैच ही खेले हैं. 

भारत के खतरनाक बल्लेबाजों में वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) की गिनती होती है. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में खेलने के तरीके को ही बदल डाला वह बहुत ही तेज बल्लेबाजी करते थे. टेस्ट क्रिकेट को उन्होंने टी20 क्रिकेट की तरह से खेला. सहवाग ने पहला तिहरा शतक पाकिस्तान के खिलाफ 2004 में लगाया था. उन्होंने मुल्तान के मैदान पर 309 रनों की पारी खेली थी. वहीं, दूसरा तिहरा शतक उन्होंने चेन्नई में 2008 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 319 रनों की पारी खेली थी.