एलआईसी आईपीओ को लेकर बड़ी खबर, मोदी कैबिनेट ने 20 फीसदी एफडीआई को दी मंजूरी

नई दिल्ली. लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन के आईपीओ को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. केंद्रीय कैबिनेट ने इस आईपीओ में विदेशी निवेशकों को शामिल करने के एफडीआई पॉलिसी में बदलाव किया है. इस बदलाव के तहत एलआईसी के आईपीओ में 20 फीसदी तक ऑटोमैटिक रूट से विदेशी निवेश की मंजूरी दी गई है. माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में इसका आईपीओ लॉन्च किया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में आज इस मुद्दे पर अहम बैठक हुई थी. इसी बैठक में यह फैसला लिया गया है. डीपीआईआईटी ने एफडीआई के नियमों में बदलाव की मंजूरी दी है. इससे मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस से मंजूरी ली गई.

वर्तमान में इंश्योरेंस सेक्टर में ऑटोमैटिक रूट से 74 फीसदी एफडीआई को मंजूरी मिली हुई है. हालांकि, यह नियम एलआईसी पर लागू नहीं होता है. लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन का एडमिनिस्ट्रेशन रुएलआईसी एक्ट के तहत होता है. सेबी के नियम के मुताबिक, पब्लिक ऑफर में एफपीआई यानी फॉरन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स और एफडीआई यानी फॉरन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट, दोनों को मंजूरी मिली है, लेकिन एलआईसी एक्ट में विदेशी निवेशकों के लिए कोई नियम नहीं है. ऐसे में विदेशी निवेशकों को शामिल करने के लिए एलआईसी एक्ट में सेबी के तहत नियमों का बदलाव जरूरी था. आज इसी बदलाव पर मुहर लगाई गई है.

हर हाल में आएगा एलआईसी का आईपीओ

रूस और यूक्रेन क्राइसिस के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस सप्ताह कहा था कि सरकार पहले से निर्धारित कार्यक्रम के तहत एलआईसी आईपीओ को लॉन्च करेगी. ग्लोबल मार्केट में जो कुछ चल रहा है, उसके बावजूद हम यह मेगा आईपीओ लेकर आएंगे. एलआईसी आईपीओ की चारों तरफ चर्चा हो रही है और मार्केट में इसका बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार की नजर बाजार पर भी है.

60 हजार करोड़ जुटा सकती है सरकार

एलआईसी की तरफ से 13 फरवरी को सेबी के सामने डीआरएचपी यानी आईपीओ प्रस्ताव जमा किया गया. सरकार एलआईसी में अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने जा रही है. माना जा रहा है कि इसके जरिए सरकार 60-63 हजार करोड़ का फंड इक_ा कर सकती है. इस आईपीओ में सरकार 31.6 करोड़ शेयर जारी करेगी. एलआईसी के पॉलिसी होल्डर्स और एंप्लॉयी को इश्यू प्राइस के मुकाबले कम कीमत ऑफर की जाएगी. इसके अलावा उनके लिए सब्सक्रिप्शन में भी आरक्षण होगा.

मार्केट वैल्यु 16 लाख करोड़ के करीब

सेबी के सामने जमा दस्तावेज के मुताबिक, एलआईसी की एम्बेडेड वैल्यु 5.4 लाख करोड़ रुपए आंकी गई है. यह 30 सितंबर 2021 के मुताबिक है. फिलहाल इसकी मार्केट वैल्यु की जानकारी नहीं दी गई है. बाजार का मानना है कि कि एलआईसी की मार्केट वैल्यु 16 लाख करोड़ रुपए हो सकती है.

अभी पेटीएम का आईपीओ के नाम रिकॉर्ड

एलआईसी आईपीओ भारत के इतिहास में सबसे बड़ा आईपीओ होगा. वर्तमान में यह तमगा पेटीएम को है जिसने 2021 में शेयर बाजार में एंट्री ली थी. यह आईपीओ 18300 करोड़ रुपए का था. 2010 में कोल इंडिया का आईपीओ आया था जो 15500 करोड़ रुपए का था. 2008 में रिलायंस पावर का आईपीओ आया था जो 11700 करोड़ रुपए का था.