9.5 फीट ऊंची शिवाजी महाराज की प्रतिमा का किया अनावरण

प्रधानमंत्री ने पुणे मेट्रो प्रोजेक्ट का किया उद्घाटन
पुणे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
डायमंड और गोल्ड से बनी पगड़ी
पुणे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक दिवसीय पुणे दौरे पर हैं। यहां उन्होंने 9.5 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। 1850 किलोग्राम गन मेटल से बनी इस प्रतिमा को पुणे नगर निगम में स्थापित की गई है। इसके बाद पीएम ने पुणे मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने मेट्रो प्रोजेक्ट की शुरुआत से पहले मेट्रो के अधिकारियों से पूरे प्रोजेक्ट को समझा और फिर डिजिटल माध्यम से खुद टिकट खरीदा। इसकी प्रोग्रेस रिपोर्ट लेने के बाद हरी झंडी दिखाकर इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की। यही नहीं प्रधानमंत्री मेट्रो में सवार होकर गरवारे कॉलेज से आनंद नगर तक की यात्रा की। मेट्रो में प्रधानमंत्री ने कई दिव्यांग छात्रों से भी बात की है।
पुणे में यह बोले प्रधानमंत्री मोदी..
इसके बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणेकरों से कहा, ‘कुछ समय पहले मुझे छत्रपति शिवाजी महाराज की भव्य प्रतिमा का लोकार्पण करने का सौभाग्य मिला है। हम सभी के हृदय में सदा सर्वदा बसने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज की ये प्रतिमा युवा पीढ़ी में, आने वाली पीढय़िों में राष्ट्रभक्ति की प्रेरणा जगाएगी। आज पुणे के विकास से जुड़े अनेक प्रकल्पों का उद्घाटन और शिलान्यास भी हुआ है। ये मेरा सौभाग्य है कि पुणे मेट्रो के शिलान्यास के लिए आपने मुझे बुलाया था और अब लोकार्पण का भी आपने मुझे अवसर दिया। इसमें ये संदेश भी है कि समय पर योजनाओं को पूरा किया जा सकता है।
आज मुला मुठा नदी को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए 1100 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट पर भी काम हो रहा है। आज पुण को ई-बसें भी मिली हैं, यहां ई-बसों का उद्घाटन भी हुआ है।
पुणे ने एजुकेशन, रिसर्च एंड डेवलपमेंट, ढ्ढञ्ज और ऑटोमोबिल के क्षेत्र में भी अपनी पहचान निरंतर मजबूत की है। ऐसे में आधुनिक सुविधाएं, पुणे के लोगों की जरूरत हैं और हमारी सरकार पुणेवासियों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए काम कर रही है। 2014 तक देश के सिर्फ दिल्ली-हृष्टक्र में ही मेट्रो का एक व्यापक विस्तार हुआ था। बाकि इक्का-दुक्का शहरों में मेट्रो पहुंचनी शुरु ही हुई थी। आज देश के दो दर्जन से अधिक शहरों में मेट्रो या तो ऑपरेशनल हो चुकी है या फिर जल्द चालू होने वाली है। आज के इस अवसर पर मेरा एक आग्रह पुणे और हर उस शहर के लोगों से है जहां मेट्रो चल रही है। मैं प्रबुद्ध नागरिकों से विशेष आग्रह करूंगा, समाज में जो बड़े लोग हैं उनसे भी आग्रह करूंगा कि कितने बड़े क्यों न हुए हो, मेट्रो की आदत समाज के हर वर्ग को डालनी चाहिए।