दिग्विजय के ट्विट पर नरोत्तम का री-ट्विट

मध्यप्रदेश में प्राथमिक शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा (रूक्क-ञ्जश्वञ्ज वर्ग-3) में पेपर लीक के आरोप का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने इसे व्यापमं-3 को छिपाने की तैयारी बताया है। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में तंज मारते हुए लिखा- जांच कराने के बजाय शिकायत करने वाले पर मामला दर्ज कर लिया, वाह मामू। वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सरकार का बचाव करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ह्रस्ष्ठ पर कीचड़ उछाला जा रहा है। उधर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- सरकार ने व्यापमं का नाम तो बदल दिया, लेकिन घोटाले अभी भी जारी हैं। जबकि व्यापमं घोटाले के व्हिसल ब्लोअर आनंद राय ने अपने ऊपर दर्ज कराई एफआईआर को हाईकोर्ट में चुनौती देने की बात कही है। व्हिसल ब्लोअर आनंद राय ने कहा कि शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा वर्ग-3 का पेपर लीक हुआ है। हमने इस बात को सोशल मीडिया पर रखा तो एट्रोसिटी एक्ट में केस दर्ज करा दिया गया। यह एट्रोसिटी एक्ट का दुरुपयोग है। डॉ. राय ने शिवराज सरकार पर सवाल खड़े किए। राय ने पूछा कि कृषि विस्तार अधिकारी परीक्षा में गड़बड़ी उजागर हुई थी, क्या इस मामले में अब तक एफआईआर दर्ज कराई है? राजनीति के अखाड़े मे सोशल मीडिया पर ट्वीटर वार चलता ही रहेगा, पर हम चुप रहने वाले नहीं हैं… -खबरची