स्कूल में दो माह से बिजली नहीं, गर्मी में देनी पड़ रही है बच्चों को परीक्षा

स्कूल में दो शिक्षक और तीन कमरे हैं। स्कूल का कई माह से बिजली बिल बकाया है।
भोपाल।
राजधानी के कोलार रोड स्थित एक सरकारी स्कूल में दो माह से बिजली कटी हुई है, लेकिन स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी को ध्यान नहीं है। अब भीषण गर्मी में शुक्रवार से पांचवीं व आठवीं की परीक्षाएं शुरू हुई है। ऐसे में स्कूल में बच्चों का गर्मी से हाल-बेहाल है। कोलार रोड स्थित शासकीय प्राथमिक स्कूल में पहली से पांचवीं कक्षा में 47 बचे अध्ययनरत हैं। स्कूल में दो शिक्षक और तीन कमरे हैं। स्कूल का कई माह से बिजली बिल बकाया है। ऐसे में बिजली कंपनी ने बिल जमा नहीं होने के कारण स्कूल की बिजली काट दी है। जब स्कूल प्रशासन ने कारण पूछा तो बिजली कंपनी ने 41 हजार 126 रुपये का बिल थमा दिया। यह जुलाई 2020 से जनवरी 2021 तक का बिल आया है। स्कूल के प्रधानाध्यापक का कहना है कि बिजली की कभी रीडिंग नहीं ली गई और अचानक बिजली बिल दे दिया गया। स्कूल में फरवरी से बिजली कटी है। मार्च में तो थोड़ा मौसम ठीक रहा, लेकिन अब अप्रैल माह में भीषण गर्मी पड़ रही है। ऐसे में स्कूल में बच्चों का परीक्षा दे पाना मुश्किल हो रहा है। इस संबंध में स्कूल के प्रधानाध्यापक ने संकुल प्राचार्य को आवेदन देकर जानकारी भेजी है।

दस स्कूलों का बिजली बिल चार लाख 16 हजार रुपये आया
संकुल प्राचार्य का तर्क है कि शासकीय प्राथमिक स्कूल इनायतपुर की बिजली काटने की जानकारी मिली है। संकुल केंद्र के अंतर्गत नौ स्कूल आते हैं। जिनका बिजली बिल तीन लाख चार हजार रुपये आया है। साथ ही संकुल केंद्र का एक लाख 12 हजार रुपये आया है। अभी हाल में दस स्कूलों का बिजली बिल चार लाख 16 हजार रुपये जमा किया है। इसके बाद भी अगर इनायतपुर स्कूल की बिजली कटी है है तो बिजली कंपनी से जानकारी लेकर कारण पता करेंगे।