दंगा पीडि़त लक्ष्मी का कन्यादान करेंगे कमल पटेल

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन में हुई सांप्रदायिक हिंसा में बड़े पैमाने पर संपत्ति का नुकसान हुआ है, कई परिवारों की रोजी-रोटी पर असर आया है, तो कई परिवारों के लिए बेटियों की शादी मुश्किल हो गई है। एक ऐसा ही परिवार है, मुछाल परिवार। इस परिवार की बेटी की शादी का सारा खर्च वहन करने का किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री और खरगोन जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल ने वादा किया है। कृषि मंत्री पटेल ने मुछाल परिवार से वीडियो कॉल पर बात करते हुए लक्ष्मी मुछाल के परिवार को आश्वस्त किया, कि लक्ष्मी की शादी धूमधाम से करायेंगे और शादी का खर्च वे स्वयं उठायेंगे। मंत्री कमल पटेल ने कहा कि खरगोन में हुए उपद्रव से लक्ष्मी मुछाल का परिवार भी प्रभावित हुआ। घर-परिवार और शादी का सामान उपद्रव की भेंट चढ़ गया, उन्होंने गुजरात यात्रा के दौरान वीडियो कॉल पर लक्ष्मी से बात करते हुए भरोसा दिलाया और आश्वस्त किया कि वह उसके बड़े भाई के रूप में हैं। वे उसकी शादी की तैयारियों में होने वाले व्यय को भी वहन करेंगे। मंत्री पटेल ने कहा है कि वे 20 मई को लक्ष्मी की शादी में स्वयं शामिल होकर आशीर्वाद भी देंगे।

मुख्यमंत्री ने भी बेटी लक्ष्मी से की बात
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन में सांप्रदायिक दंगे से प्रभावित कुमारी लक्ष्मी मुछाल और उसके परिवार से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात की। मुख्यमंत्री चौहान ने बेटी लक्ष्मी के विवाह के लिए जारी तैयारियों की जानकारी प्राप्त कर जिला प्रशासन को इस संबंध में आवश्यक निर्देश भी दिए। उल्लेखनीय है कि कुमारी लक्ष्मी का 11 अप्रैल को विवाह तय था। सांप्रदायिक दंगों में 10 अप्रैल को लक्ष्मी के घर में लूटपाट हुई और विवाह का सामान उपद्रवियों द्वारा लूट लिया गया। लक्ष्मी के माता-पिता नहीं हैं, परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी बड़े भाई सतीश मुछाल पर है, जो वाहन चालक हैं। मुख्यमंत्री चौहान को जैसे ही लक्ष्मी की स्थिति की जानकारी हुई, उन्होंने तत्काल जिला प्रशासन को लक्ष्मी के विवाह की समस्त व्यवस्थाएँ करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री अपनी ओर से भेजेंगे बेटी लक्ष्मी को उपहार: जिला प्रशासन द्वारा विवाह के आयोजन के साथ भेंट में दिए जाने वाले कपड़ों और बर्तन आदि की व्यवस्था की गई है। अब लक्ष्मी का विवाह 20 मई को होना तय हुआ है। मुख्यमंत्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा कि बेटी लक्ष्मी का विवाह धूमधाम से होगा और उनकी ओर से विशेष उपहार भी भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान द्वारा निवास कार्यालय से की गई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से खरगोन कलेक्टर, जिला प्रशासन के अधिकारी और बेटी लक्ष्मी का परिवार खरगोन स्थित एनआईसी कक्ष से जुड़े। मुख्यमंत्री चौहान ने सांप्रदायिक दंगों में क्षतिग्रस्त घरों की जल्द से जल्द मरम्मत कराने के निर्देश भी दिए।