बजरंगदल के लोगों को कर्नाटक में बंदूक चलाना सिखा रहे


बेंगलुरु। कर्नाटक के कोडागु जिले में बजरंग दल के शौर्य प्रशिक्षण वर्ग को लेकर हंगामा मचा हुआ है। यहां 400 युवाओं को बंदूक समेत अन्य हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई। भाजपा विधायक सीटी रवि ने कहा- सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेना गलत नहीं है। पुलिस भी ट्रेनिंग लेती है। हमारे लडक़े एयर गन लिए हैं, बम या ्र्य-47 नहीं। ट्रेनिंग कैंप पर कमेंट करते हुए स्वरा भास्कर ने कहा- कर्नाटक में हिजाब पर बैन है। चाकू-छुरी पर नहीं। बजरंग दल का यह शिविर त्रिशूल दीक्षा के तहत आयोजित किया गया था। यह कैंप पोन्नमपेट के साईं शंकर एजूकेशनल इंस्टीट्यूट में 5 से 11 मई तक चला। विपक्ष का आरोप है कि इस कैंप में युवाओं को बंदूक और अन्य हथियार चलाना सिखाया गया, जबकि बजरंग दल का कहना है हथियार बांटने का आरोप गलत है। हम काफी सालों से इसी विद्यालय कैंपस में प्रशिक्षण वर्ग आयोजित कर रहे हैं।
कांग्रेस ने जताई चिंता: कांग्रेस के तमिलनाडु, पुडुचेरी और गोवा प्रभारी विधायक दिनेश गुंडू राव ने पोस्ट किया- बजरंग दल के सदस्य हथियारों का प्रशिक्षण क्यों ले रहे हैं? क्या बिना लाइसेंस के बंदूक चलाना सीखना अपराध नहीं है? क्या यह शस्त्र अधिनियम 1959, शस्त्र नियम 1962 का उल्लंघन नहीं है? भाजपा के नेता क्यों खुलेआम इसमें शामिल हो रहे हैं और उसका समर्थन कर रहे हैं?