इंडिगो एयरलाइन्स दिव्यांग बच्चे वाले मामले में दोषी

नई दिल्ली। दिव्यांग बच्चे को प्लेन में चढऩे नहीं देने के मामले में एविएशन रेगुलेटर ष्ठत्रष्ट्र ने इंडिगो एयर लाइन को दोषी पाया है। DGCA की एक फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने इस घटना की जांच के बाद रिपोर्ट में कहा है कि इंडिगो का व्यवहार सही नहीं है। एयर लाइन ने नियमों का पालन नहीं किया। एयर लाइन को शोकॉज नोटिस भी दिया गया है। जवाब के लिए 26 मई तक का समय दिया गया है। DGCA ने बताया कि कमेटी की कार्यवाही आंशिक रूप से खुले में और आंशिक रूप से कैमरे में परिवार के अनुरोध के अनुसार की गई है। इस महीने की शुरुआत में 7 मई को, इंडिगो के एक मैनेजर ने रांची एयरपोर्ट पर एक स्पेशल नीड वाले बच्चे के साथ दुर्व्यवहार किया था। घटना के समय मौजूद एक चश्मदीद अभिनंदन मिश्रा ने सोशल मीडिया पर इस घटना की जानकारी दी थी। उन्होंने बताया था कि रांची एयरपोर्ट पर एक दिव्यांग बच्चा फ्लाइट में चढऩे से डर रहा था। उसके माता-पिता उसे शांत करने में लगे थे। इस बीच इंडिगो कर्मियों ने बच्चे को विमान में चढ़ाने से मना कर दिया। उन्होंने तर्क दिया कि इससे अन्य यात्रियों को खतरा है।