80 प्रतिशत दिल्ली अवैध है, इसे तोड़ा तो यह आजाद भारत की सबसे बड़ी तबाही होगी: केजरीवाल

बुलडोजर ड्राइव पर बीजेपी को तंज
नई दिल्ली।
दिल्ली में इन दिनों अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाए जाने का अभियान जारी है। इसे लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के विधायकों के साथ सोमवार को बैठक की। इस बैठक में उन्होंने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दिल्ली को योजनाबद्ध तरीके से नहीं बसाया गया है। 80 प्रतिशत से ज्यादा दिल्ली को अवैध कहा जा सकता है। तो क्या आप 80 प्रतिशत दिल्ली को तबाह कर देंगे? अगर दिल्ली के 63 लाख लोगों के घर व दुकानों को बुलडोजर से तोड़ दिया गया, तो यह आजाद भारत की सबसे बड़ी तबाही होगी।
लोगों के कागज भी नहीं देखती रूष्टष्ठ: केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली नगर निगम (रूष्टष्ठ) के बुलडोजर कॉलोनियों में पहुंचकर किसी भी घर या दुकान को तोड़ देते हैं। अगर लोग उन्हें कागजात भी दिखाते हैं कि उनका घर-दुकान अवैध नहीं है, तो उसे भी चेक नहीं किया जाता है। करीब 50 लाख लोग अनधिकृत कॉलोनियों में रहते हैं, 10 लाख लोग झुग्गियों में रहते हैं। लाखों लोग ऐसे हैं जिन्होंने अपने घरों की बालकनी को मॉडिफाई करवाया है या कुछ ऐसा किया है जो ओरिजनल मैप से काफी अलग है। क्या उन सबके घरों को तोड़ा जाएगा?
केजरीवाल ने विधायकों से कहा- जेल जाने को तैयार रहें: केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी अवैध कब्जे के खिलाफ है और दिल्ली को खूबसूरत देखना चाहती है, लेकिन 63 लाख लोगों के घरों और दुकानों के तोड़े जाने को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। अरविंद केजरीवाल ने अपनी पार्टी के विधायकों से कहा कि भाजपा के नेतृत्व में दिल्ली के कई हिस्सों में चल रहे इस अभियान का विरोध करने के बाद जेल जाने को भी तैयार रहें।