पुलिसकर्मियों की मौत और दो आरोपियों के एनकाउंटर पर सियासी पारा चढ़ा

भोपाल। गुना में शिकारियों और पुलिस की मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत और दो आरोपियों के एनकाउंटर पर सियासी पारा चढ़ा हुआ है। बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने शिकारियों के राघौगढ़ किले (दिग्विजय) से संबंध होने के आरोप लगाए थे। इसके बाद से ही दिग्विजय सिंह, उनके विधायक बेटे जयवर्द्धन सिंह लगातार बीजेपी को घेर रहे हैं। बीजेपी नेताओं की ओर से भी पलटवार हो रहे हैं। नेताओं में शिकारियों का एक-दूसरे से कनेक्शन बताने की होड़ मची है।

राजनीतिक दबाव के कारण कार्रवाई नहीं:सिंह
मध्यप्रदेश में पुलिस पर हमलों का प्रमुख कारण अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण है। खुलेआम प्रदेश के कुछ इलाकों में देसी कट्टे बन रहे हैं। उत्तरप्रदेश से भी आ रहे हैं। पुलिस के पास जानकारी है, लेकिन राजनीतिक दबाव के कारण कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं।

भाजपा को सांप क्यों सूंघ गया: जयवर्द्धन
राघौगढ़ से विधायक जयवर्द्धन सिंह ने दो फोटो शेयर किए। एक फोटो में सिंधिया समर्थक मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया और बीजेपी जिला उपाध्यक्ष हीरेंद्र सिंह हैं। दूसरी में इन दोनों के साथ पीछे एनकाउंटर में मारा गया शहजाद खान है। इस फोटो को एक हफ्ते पुराना बताया गया है। जयवर्द्धन ने ट्वीट कर लिखा- वीडी शर्मा जी, गुना हत्याकांड में महाराज के आदमियों के नाम आते ही भाजपा को सांप क्यों सूंघ गया? विशेष दावत में मंत्री जी के साथ शिकारी क्या कर रहे हैं? आप अंदाजा लगा सकते हैं कि प्लेट से क्या ढंका होगा…।