बैलेट पेपर से हों इलेक्शन: कमलनाथ

भोपाल। मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव होने हैं। इससे पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने श्वङ्करू को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि श्वङ्करू के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाएं। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी 300 सीटों पर जीतती है, तो केवल ईवीएम से क्यों जीतना चाहती है। क्या अमेरिका में है ईवीएम, क्या यूरोप में ईवीएम, क्या जापान है ईवीएम? जर्मनी में तो संविधान में संशोधन किया कि ईवीएम से चुनाव नहीं होगा। हमारी मांग है कि चुनाव बैलेट पेपर से कराए जाएं।
भाषा के आधार पर बंटवारा शुरू, क्चछ्वक्क समाज आदिवासियों को भी बांटेगी: कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित सफाई कामगार प्रकोष्ठ के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान कमलनाथ बीजेपी सरकार और शीर्ष नेतृत्व पर बड़ा हमला बोला है। आज धर्म के आधार पर बांटेंगे। कल समाज के आधार पर बांटेंगे। भाषा के आधार पर बांटना शुरू हो गया है। हम पढ़ रहे हैं, तमिलनाडु में यह शुरू हो गया है। बांटो-बांटो। राजनीतिक दृष्टि से बांटना शुरू करो। यह एकता तोड़ेगा। अभी जो समाज के लोग भाईचारे से रहते हैं, उनमें विवाद पैदा होगा। उनको उचकाया जाएगा। धार्मिक विभाजन तो शुरुआत है। भाजपा की सरकार और उनका नेतृत्व इसे कौन सा मोड़ देना चाहती है, यह धीरे धीरे समझ आएगा। कोई कहेगा यह बाल्मीकि समाज है, कोई कहेगा यह खटीक समाज से है। हमें भी तो आरक्षण चाहिए। आदिवासियों को भी ये बाटेंगे। ये गोंड है, ये भील है, ये भिलाला है। इनका आरक्षण अलग हो। ये कोरगू है। ये इनका लक्ष्य है। आपको बीजेपी की ये राजनीति समझनी है।

चुनाव जनता जिताती है: वीडी शर्मा
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पलटवार किया है। शर्मा ने कहा कि कमलनाथ जी जमीन नहीं होती, तो ऐसी ही बातें करते हैं। चुनाव जनता जिताती है। कोई बैलेट पेपर चुनाव जिताता है क्या? बैलेट पेपर पर वोट देने का काम जनता करती है, जनता है नहीं तो बैलेट पेपर की ही बातें करेंगे और क्या करेंगे।