कमलनाथ हुए रिचार्ज…

मध्यप्रदेश में नगरीय निकायों के चुनाव तथा पंचायतों के चुनाव परिणामों को लेकर कांग्रेस संगठन से ज्यादा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष में उत्साह का संचार हो गया है। समझा जाता है कि सात नगर निगमों में पराजय के बाद भारतीय जनता पार्टी के होश उड़ गये है, और भाजपा इस विचार मंथन में जुट गई है कि अब कांग्रेस को कैसे रोका जाए। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा की बातचीत से पता चलता है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ दोबारा मध्यप्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री बनने के मिशन मोड पर आ गए है। कल प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पंडित केके मिश्रा जिस अंदाज से पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे उससे ऐसा लगता है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ फिर से रिचार्ज हो गये है। केके मिश्रा का दावा है कि जिस तरह एमपी आरडीसी के चेयरमेन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान है, मंडीदीप जैसे बड़े-बड़े पुलों के ध्वस्त होने के बावजूद भी किसी चीफ इंजीनियर या एग्जीक्यूटिव इंजीनियर को निलंबित नहीं कर पाये, इसका मतलब भ्रष्टाचार ठेकेदारों और मैदान में कार्यरत यंत्रियों की साठगांठ से जबरदस्त फलफूल रहा है। केके मिश्रा ने आगे यह कहा है कि अच्छा है शिवराज सिंह चौहान इसी तरह चलते रहे तो कांग्रेस का ग्राफ बढ़ जायेगा और कमलनाथ जी दोबारा मुख्यमंत्री बन जायेंगे…। खबरची