9 कलेक्टर और 9 एसपी दूसरी किश्त में बदल जाएंगे…

मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के तेवर आजकल साँतवें आसमान पर हैं। कुछ दिन पहले जब अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव तथा 14 कलेक्टरों के इधर-उधर तबादले होने से राज्य मंत्रालय में हड़क्प सा मच गया है। सूत्रों के अनुसार मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा तथा मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक डॉ. सुधीर सक्सेना ने आपसी सहमति के आधार पर कम से कम 9 जिला कलेक्टर और 9 पुलिस अधीक्षकों को बदलने की सलाह दी है। सूत्रों का कहना है कि, इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह को चुनाव आयोग की परिधि में आने से पहले इंदौर से तबादला करते हुए उन्हें उद्योग विभाग की भारी भरकम ज्मिेदारी से नवाजा गया है। ठीक इसी तरह ग्वालियर, भोपाल और उज्जैन के जिला कलेक्टरों को 24 कैरेट के प्रशासनिक क्षमताओं के धनी होते हुए भी उन्हें चुनाव आयोग की परिधि में आने के पहले जनवरी के प्रथम सप्ताह तक बदलना ही होगा तथा जिसमें ग्वालियर नगर निगम आयुक्त के रूप में बेहतर प्रदर्शन करने वाले किशोर कान्याल को महत्वपूर्ण जिले का कलेक्टर बनाया जा सकता है। उपरोक्त तीनों आला अफसरों ने जो सहमति बनाई है उसके आधार पर समझा जाता है कि, भोपाल के कलेक्टर अविनाश लावानिया, उज्जैन के कलेक्टर आशीष कुमार सिंह तथा ग्वालियर के कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम की अदला-बदली भी आपस में ही होगी। उज्जैन के आशीष कुमार ग्वालियर चले जाएंगे, ग्वालियर के कौशलेन्द्र विक्रम भोपाल आ जाएंगे जबकि भोपाल के अविनाश लावानिया को उज्जैन शिफ्ट किए जाने की खबर है। इन तीन महत्वपूर्ण जिलों के अलावा 9-9 जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को भी बदल दिया जाए तो हैरानी की बात इसलिए नहीं होगी क्योंकि 2009 बैच के सभी पुलिस अधीक्षक डीआईजी बन जाएंगे…। खबरची