सोमवार की शाम तक या मंगलवार की सुबह तक सब कुछ नया

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री के बीच में यह रिश्ता तय हो गया है कि, मोदी देश में सबकुछ तय करेंगे, लेकिन मध्यप्रदेश में सबकुछ नया शिवराज ही तय करेंगे। सूत्रों के अुनसार मध्यप्रदेश में सबसे बड़ा ज्वलंत मुद्दा है, मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव का पद जहां पर वर्तमान मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को 30 नवम्बर 2022 को रिटायर होना है, और उनके रिटायर होने के पहले मध्यप्रदेश में या तो नया मुख्य सचिव आए या फिर वर्तमान मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को एक साल की सेवावृद्धि दे दी जाए। समझा जाता है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से दो- टूक शब्दों में कह दिया है कि, तु्हारा राज्य है, तु्हें जैसा करना है वैसा करो, मुझे तो 2023 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की सरकार चाहिए और लोग सभा के 2024 के चुनाव में लोग सभा की सभी सीटे मतलब कमलनाथ की छिंदवाड़ा सीट को मिलाकर 29 सीटें भाजपा की झोली में चाहिए। मोदी-शिवराज के संवाद में संधि है, तो सोमवार की शाम तक या मंगलवार की सुबह तक मध्यप्रदेश में सबकुछ नया हो जाएगा, अर्थात् यदि मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को एक साल की मोहलत मिल जाती है, तो यह पक्का मानिए की भाजपा का संगठन बदल जाएगा और इकबाल सिंह बैंस की जगह कोई नया मुख्य सचिव पीएमओ की मर्जी से आ जाए, तो मध्यप्रदेश में नेतृत्व बदलने के संकेत मिल जाए तो चौंकिएगा मत….। खबरची