मंच पर मौका नहीं मिला तो अलग-अलग कक्ष में इन्वेस्टर्स को पटाते हुए दिखे मंत्री…

मध्यप्रदेश में ग्लोवल इन्वेस्टर्स समिट जो कल इंदौर में स्पन्न हुआ उस आयोजन में शिवराज सरकार के उत्साह का ठिकाना ही नहीं था। जहां एक और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान देशी-विदेशी निवेशकों को अपनी सरकार की खुली नीतियों से आकर्षित करने में कामयाब रहे, वहीं दूसरी ओर उन मंत्रियों के चेहरे में और दिलों में उत्साह और उमंग का भाव छिपाये नहीं छिपा, जिन मंत्रियों को ग्लोवल इन्वेस्टर्स समिट में मंच साधा करने का अवसर नहीं मिला, उन मंत्रियों ने अपने विभाग के अधिकारियों से कह रखा था कि, अपने मतलब का कोई इन्वेस्टर मिल जाए, तो उसे हमारे उस कक्ष में ले आना जहां हम अकेले बैठे हो। सूत्रों के अनुसार कुछ उत्साहित मंत्रियों ने ऐसा ही किया और जिन विभागों में पूँजी निवेश की स्भावनाएं कम थी उन विभागों में भी पूँजी निवेश हो सकता है, ऐसे लुभावन अवसर देने की निवेशकों को भरपूर कोशिश की गई। यूं कहा जाए कि, शिवराज सरकार के मंत्री ग्लोवल इन्वेस्टर्स समिट में आए विदेशी डेलीगेट से इतने प्रभावित थे कि, उन्हें पटाने के लिए अपनी पूरी टीम को लगा दिया। सूत्रों के अनुसार एक मंत्री जी ऐसा करके 2 करोड़ का इन्वेस्टमेंट अपने विधानसभा क्षेत्र में लाने के लिए एक विदेशी निवेशक को तैयार भी कर लिया है, परिणाम क्या होता है यह तो वक्त ही बताएगा। उल्लेखनीय है कि, उपरोक्त वाक्या मध्यप्रदेश के मध्यम एवं सूक्ष्म लघु उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा को लेकर नहीं लिखा गया है….। खबरची