माँ नर्मदा जख्मीं हो गईं शिवराज हैं बेखबर…

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के एंटी माफिया अभियान का लाभ मध्यप्रदेश की जीवनदायनी माँ नर्मदा नदी को बिल्कुल ही नहीं मिल रहा है। इसके उलट यह कहा जाये कि रेत के कारोबारी करोड़ों रोज कमाने के लिए माँ नर्मदा की पेट में रोज बड़ी-बड़ी पोकलेन मशीनों को उतारकर उन्हें जख्मी भी कर रहे है और मैली करने में जरा सा भी संकोच नहीं करते है। और तो और राजधानी के नाक के नीचे माँ नर्मदा की छाती में पोकलेन मशीन उतार-उतार कर एक बड़ी कंपनी ने नदी के भीतर ही टॉपू बना लिया है। शिवराज सरकार की रेत नीति के खिलाफ 24 घंटे में बेधड़क काम करने वाली एक कंपनी तो जिले के कलेक्टर को मुख्यमंत्री जी के साथ कुछ संतों के सौंजन्य से अपना फोटो दिखा-दिखाकर नर्मदा मैय्या की छाती में मूंग दल रही है। ठेकेदार के प्रतिनिधियों की इस कला में सीएम साहब का कोई रोल नहीं है और वे बेखबर भी है कि माँ नर्मदा रोज अवैध खोदी जा रही हैं और खनिज राजस्व भी अरबों में डूब रहा है। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त वाक्या सीहोर जिले के कलेक्टर और वहां काम करने वाली पॉवर मैक लिमिटेड कंपनी को लेकर नहीं लिखा गया है। खबरची…